औपचारिक पत्र कैसे लिखें | Formal Letter Format in Hindi

Formal Letter Format in Hindi – आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे के औपचारिक पत्र कैसे लिखे। औपचारिक पत्र  क्या होता है. और Formal Letter Format कैसा होता है.

दोस्तों अगर आप भी औपचारिक पत्र जिसको अंग्रेजी में हम Formal Letter कहते हैं लिखना चाहते हैं पर आपको औपचारिक पत्र लिखने का सही तरीका या यूँ कहे के औपचारिक पत्र लिखने का सही फॉर्मेट नहीं पता तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े. अगर आपको औपचारिक पत्र को लिखने में कोई भी परेशानी आ रही है तो आप बिलकुल सही पोस्ट पर आय हैं. क्यूंकि आज के इस पोस्ट में आपको बतायंगे के सही Formal Letter Format क्या होता है.

अगर आप अभी स्कूल में है या फिर किसी परीक्षा की तयारी कर रहे हैं. या फिर किसी सरकारी कार्लयालय में काम करते हैं. तो आपके लिए Formal Letter औपचारिक पत्र लिखना आना बहुत जरूरी है. 

क्यूंकि अगर आप स्कूल में है तो आपको अध्यापक से छुट्टी मांगने के लिए सही Aupcharik Patra Format का पता होना बहुत जरूरी है. अगर आप सरकारी नौकरी की तयारी कर रहे हैं तो आपको औपचारिक पत्र लेखन हिंदी या हिंदी में औपचारिक पत्र कैसे लिखे इससे जुड़े कई सवाल आते हैं. 

इस पोस्ट में हम आपको Format Of Formal Letter In Hindi यानि Aupcharik Patra Format के बारे में बताएँगे जिससे आप अपनी परीक्षा में या फिर अपने किसी सरकारी काम में अच्छे से औपचारिक पत्र लिख सकें।

साथ ही अगर अगर आप अभी स्कूल में पढ़ते हैं तो आपके लिए Aupcharik Patra Lekhan In Hindi Class 9, Aupcharik Patra Lekhan In Hindi Class 10 का हम एक एक औपचारिक पत्र लिखकर भी दिखायंगे।

लेकिन उससे पहले जानते हैं के औपचारिक पत्र Formal Letter क्या होता है.

Contents show

औपचारिक पत्र क्या है – What is Formal Letter In Hindi

Aupcharik Patra Meaning in Hindi – औपचारिक पत्र हम उनको लिखते हैं जिनसे हमारा कोई निजी सम्बन्ध ना हो.  Aupcharik Patra को हम अपने प्रधानाचार्य को लिखते हैं, आवेदन पत्र के लिए लिखते हैं, सरकारी विभाग में किसी काम के लिए लिखते है, औपचारिक पत्र को हम संपादक के नाम लिखते हैं, Aupcharik Patra को हम सरकारी विभाग में अपनी समस्या के निवारण हेतु लिखते हैं. aupcharik patra format की भाषा शिष्टापूर्ण और सहज होनी चाहिए। 

आगे Formal Letter In Hindi को विस्तार में जानेंगे।

औपचारिक पत्र की आवश्यकता क्यों होती है?

Format of formal letter in hindi – पहले के ज़माने में अपने दूर रहने वालों से बात करने का कोई साधन नहीं होता था. पहले केवल पत्र ही होते थे अपने सेज सम्बन्धिओ का हाल चाल लेने के लिए. लेकिन अब हमारा पास फ़ोन, व्हाट्सप्प आ जाने से पत्र की आव्यशकता नहीं होती। आज के समय में केवल औपचारिक पत्र ही हैं जिनका चलन आज भी है. और जिनकी आज भी जरूरत पड़ती है. 

Aupcharik Patra को हम सरकारी विभाग के कामो के लिए इस्तेमाल करते हैं, Formal Letter In Hindi जब हम किसी को देते है तो वो एक लिखित दस्तावेज माना जाता है. उधारण – सरकारी विभाग में नया बिजली का कनेक्शन लेने के लिए आवेदन पत्र, स्कूल या सरकारी विभाग में अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

औपचारिक पत्र क्या होते हैं? – Aupcharik Patra Kya Hote Hai?

Aupcharik Patra वो पत्र होते हैं जो केवल व्यवसाय संबंधी, पेशे संबंधी व्यक्तियों को भेजे जाते हैं उन पत्रों को औपचारिक पत्र या formal letter कहते हैं. औपचारिक पत्र लेखन करते समय हम औपचारिक शब्दों का प्रयोग करते हैं जैसे – निवेदन, श्रीमती, श्रीमान, और महोदय का प्रयोग करते हैं. Formal letter in Hindi  में लिख रहे हों या फिर इंग्लिश में. अनौपचारिक मतलब के इनफॉर्मल भाषा का प्रयोग कभी नहीं करते।

Read Also –

Application in Hindi Format

Patra Kitne Prakar Ke Hote Hain

Informal Letter Format in Hindi

औपचारिक पत्र क्यों लिखते हैं? –  Aupcharik Patra Kyu likhe hai.

औपचारिक पत्र का उपगोय व्यवसाय संबंधी कामो में ही किया जाता है. जैसे नौकरी के लिए आवेदन पत्र, अपने प्रिंसिपल को छुट्टी के लिए पत्र, किसी सरकारी दफ्तर में कोई शिकायत, सुचना या निवेदन करने के लिए आवेदन पत्र। इन्ही सब कामो के लिए हम औपचारिक पत्र लिखते हैं.

औपचारिक पत्र के प्रकार – Types Of Formal Letter In Hindi 

Formal letter in Hindi के ये कुछ प्रकार होते है.

  • प्रार्थना-पत्र – ये पत्र किसी से निवेदन या प्रार्थना करने के लिए लिखे जाते हैं. जैसे प्रधानाचार्य से अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र। या फिर किसी सरकारी कार्यालय में निदेवन पत्र।
  • कार्यालयी-पत्र – ये पत्र कार्यालय के कामकाज में प्रोगॉग होते है. जैसे एक सरकारी कार्यालय से किसी दूसरे सरकारी कार्यालय में भेजने के लिए. या फिर थाना प्रभारी को अपनी कोई शिकायत दर्ज करवाने के लिए.
  • व्यवसायिक-पत्र – ये व्यवसायिक कामो में प्रयोग होते है. इनको जायदा तर व्यापारी द्वारा इस्तेमाल किया जाता है.

औपचारिक पत्र कैसे लिखें – Aupcharik Patra Format

  • सबसे पहले एक साफ़ कागज लें.
  • कागज आप किसी भी कॉपी से ले सकते हैं.
  • ध्यान रहे पत्र हमेशा उलटे हाथ की तरफ से लिखना शुरू होता है.
  • सबसे पहले सेवा में लिखें।
  • अब पत्र जिसको भेज रहे हैं उसका पदनाम और पता लिखें।
  • अब अगली लाइन में विषय लिखें।
  • अब पहले अनुच्छेद में “सविनय निवेदन यह है कि” से शुरवात करें और अपनी समस्या लिखें।
  • अब दूसरे अनुच्छेद में “आपसे विनम्र निवेदन है कि” लिखें और आपको उनसे जो उम्मीद है वो लिखें।
  • अब एक लाइन छोड़ कर अपना हस्ताक्षर और नाम लिखें।
  • अब अगली लाइन में प्रेषक मतलब भेजने वाले का पूरा पता लिखें।
  • आखिर में अगली लाइन में दिनांक लिखें।

औपचारिक पत्र लिखते समय ध्यान रखने वाली बातें

  • औपचारिक पत्र लिखने के कुछ नियम होते हैं आपको उनको ध्यान रखें चाहिए।
  • औपचारिक पत्र लिखते समय भाषा का प्रोयग बहुत ही सावधानी पूर्वक किया जाता है.
  • औपचारिक पत्र की शुरवात और अंत बहुत ही प्रभावशाली होना चाहिए।
  • आपकी लिखने वाली भाषा बहुत ही सरल होनी चाहिए।
  • लेख आपका साफ़ होना चाहिए।
  • आपका पत्र छोटा और स्पष्ट होना चाहिए।
  • अगर आप स्कूल में पत्र लिख रहे हैं तो अपनी कक्षा, और रोल नंबर जरूर लिखें।
  • औपचारिक पत्र को हमेशा एक ही पेज में खतम करने की कोशिश करनी चाहिए।

औपचारिक पत्र के उदाहरण – Aupcharik Patra Format Example 

नीचे हम आपको कुछ formal letter format के example बता आहे हैं जिनकी सहायता से आप फॉर्मल लेटर कैसे लिखें वो जान सकते है. यहाँ पर हम आपको official letter format in hindi, Aupcharik patra format class 10 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 10), Aupcharik patra format class 8 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 8), Aupcharik patra format class 6 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 6)

Aupcharik Patra Format class 10 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 10)

Formal Letter In Hindi To Principal Image

Formal Letter In Hindi To Principal

सेवा में,

प्रधानाचार्य महोदय,
राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, पुष्कर,
राजस्थान

दिनांक 05.4 .2022

विषय – बहन की शादी हेतु अवकाश प्रार्थना पत्र।

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं आपके विद्यालयकी कक्षा 10वीं का छात्र हूँ। मेरी बड़ी बहन की शादी होने जा रही है जो की 11.4 .2022 को होनी निश्चित हुई है. शादी से जुड़े मांगलिक कार्यक्रम 10.4 .2022 से लेकर 12.4 .2022 तक चलेंगे। मैं अपने घर में बड़ा बीटा हु. तो मेरा शादी के कार्यों में हाथ बटाना अति आवश्यक है। इस लिए आप मुझे 09.4 .2022 से 13.4 .2022 तक का अवकाश देने की कृपा करें।

इसके लिए मैं आपका आभारी रहुँगा।

धन्यवाद।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
नाम – नितिन शर्मा
कक्षा – 10वीं
रोल नंबर – 34
दिनांक – 05.4 .2022

Aupcharik Patra Format class 8 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 8)

Formal Letter In Hindi For Class 8 to Principal Image

Formal Letter In Hindi For Class 8 to Principal Image

सेवा में,

प्रधानाचार्य महोदय,
राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, पुष्कर,
राजस्थान

दिनांक 05.4 .2022

विषय – दादीजी की तबियत खराब होने के कारण 4 दिन के अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं आपके विद्यालयकी कक्षा 8 का छात्र हूँ. कुछ दिनों से मेरी दादीजी की तबियत खराब चल रही है. मेरे पिताजी आर्मी में है तो उनको छुट्टी लेकर आने में अभी कुछ दिन लगेंगे। मेरी माताजी के आलावा घर में बस मैं ही हु. मुझे ही दादीजी को डॉक्टर क लेकर जाना होता है और उनका ख्याल रखना होता है. आपके निवेदन है की मुझे 4 दिन के लिए अवकाश देने की कृपा करें।

इसके लिए मैं आपका आभारी रहुँगा।

धन्यवाद।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
नाम – प्रदीप चौधरी
कक्षा – 8
रोल नंबर – 24
दिनांक – 05.4 .2022

Aupcharik Patra Format class 6 (औपचारिक पत्र लेखन हिंदी class 6)

Formal Letter In Hindi For Class 6 to Principal Image

Formal Letter In Hindi For Class 6 to Principal

सेवा में,

प्रधानाचार्य महोदय,
राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, पुष्कर,
राजस्थान

दिनांक 05.4 .2022

विषय – बुखार से पीड़ित होने के कारण 2 दिन के अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र।

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि

महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं आपके विद्यालयकी कक्षा 6 का छात्र हूँ। कल जब से विद्यालय से घर आया. भीषण गर्मी के कारन बुखार से पीड़ित हो गया. डॉक्टर को दिखाया तो 2 दिन के आराम की सलाह दी. इसी कारन 2 दिन तक विद्यालय में आने में असमर्थ हूं। आपसे निवेदन है की मुझे 2 दिन के लिए अवकाश देने की कृपा करें।

इसके लिए मैं आपका आभारी रहुँगा।

धन्यवाद।

आपका आज्ञाकारी शिष्य,
नाम – कमल वर्मा
कक्षा – 6
रोल नंबर – 30
दिनांक – 05.4 .2022

Aupcharik Patra Format For Police Station In Hindi

Application For Police Station In Hindi Image

Application For Police Station In Hindi

सेवा में,

श्रीमान थानाध्यक्ष महोदय,
शास्त्री नगर थाना,
दिल्ली

विषय – घर में हुई चोरी की सुचना देने हेतु प्रार्थना पत्र।

महोदय,

मं आपको यह सूचित करना चाहता हु के कल रात 05.4 .2022 को हम सपरिवार अपने मित्र की शादी में हरिद्वार गए थे. सुभे जब वापस घर आय तो देखा घर के ताले टूटे पड़े है. अंदर जाकर देखा तो सारा सामान बिखरा हुआ है. हमारे घर से कुछ सोने का सामान, और कुछ पैसे चोरी हो गए है. घर में लगे CCTV कैमरो में चोर चोरी करते हुए साफ़ दिखाई पद रहे है.

आपसे निवेदन है की आप चोरो को जल्द से जल्द पकड़ने की कृपा करें।

सधन्यवाद
मोहित सिंह
L-201, शास्त्री नगर
दिल्ली

दिनांक – 21/042022

फ़ोन नंबर – 1234567890

Read Also –

Kam Samay Me Jyada Paisa Kamane Ka Tarika

Bank Sathi App Se Paise Kaise Kamaye

India Mein Online Paise Kaise Kamaye

Instagram Se Paise Kaise Kamaye

निष्कर्ष 

दोस्तों आज हमने जाना के औपचारिक पत्र कैसे लिखे (Formal Letter Format in Hindi) और साथ ही औपचारिक पत्र क्या है (What is Formal Letter In Hindi). हमने ये भी जाना के aupcharik Patra Meaning in Hindi  क्या है और औपचारिक पत्र के प्रकार (Types Of Formal Letter In Hindi) कितने होते हैं. और साथ ही Formal Letter In Hindi For Class 10, Formal Letter In Hindi For Class 8, और Formal Letter In Hindi For Class 6. और इसी के साथ ही police complaint application in hindi का भी एक example पढ़ा.

अगर आपको हमारा ये पोस्ट Formal Letter Format in Hindi अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे. 

आपको इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल पूछना हो तो नीचे कमेंट करें. 

Formal Letter Format in Hindi से जुड़े FAQs

Q. औपचारिक पत्र क्या होता है?

Ans. आवेदन पत्र, अपने प्रिंसिपल को छुट्टी के लिए पत्र, किसी सरकारी दफ्तर में कोई शिकायत, सुचना या निवेदन करने के लिए आवेदन पत्र के लिए लिखते है.

Q. औपचारिक किसे लिखते हैं?

Ans. औपचारिक पत्र हम सरकारी कामो के लिए, अपने ऑफिस के काम के लिए, अपने स्कूल कॉलेज के प्रिंसिपल या डीन के लिए लिखते हैं.

Q. औपचारिक पत्र लिखने के लिए कैसी भाषा का उपयोग होता है?

Ans. औपचारिक पत्र लिखने के लिए सरल भाषा का उपयोग होता है?

Spread the love

Leave a Comment