द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति बानी है 

20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में द्रौपदी मुर्मू जी का जन्म हुआ था। 

Click Here

ये संथाल परिवार से संबंधित हैं, जो एक आदिवासी जातीय समूह है। 

इनका विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ. इनके 2 बेटे और 1 बेटी हुए

Click Here

लेकिन अब दोनों बेटे और पति अब इस दुनिया में नहीं रहे. इनकी पुत्री विवाहित हैं जो की भुवनेश्वर में रहती हैं.

इनकी इसी साफ़ छवि और समाज कल्याण के काम को देखते हुए ही इनको झारखण्ड का राजयपाल बनाया गया

Click Here

द्रौपदी मुर्मू ने 1997 में राइरंगपुर नगर पंचायत से पार्षद का चुनाव जीता था. और यही से अपने राजनीतिक जीवन की शुरुवात करी थी.

2000 से 2004 तक ओडिसा सरकार में में राज्यमंत्री के रूप में ट्रांसपोर्ट और वाणिज्य विभाग संभाला।

Click Here

2002 से 2004 तक ओडिसा सरकार के राजयमंत्री के रूप में पशुपालन और मत्स्य पालन विभाग को संभाला।

झारखंड राज्य के बनने के बाद, अपना 5 साल का कार्यकाल पूरा करने वाली द्रोपदी मुर्मू पहली महिला राज्यपाल है।

इनके बारे में और जानने के  button पर click करें 

Click Here