हाल ही में कोंग्रेस की तरफ से मार्ग्रेट आल्वा का नाम भारत के नए उपराष्ट्रपति के लिए नामित हुआ है

मार्ग्रेट आल्वा एक पूर्व संसद और राज्य मंत्री रह चुकी हैं. और इनका एक लम्बा राजनैतिक करियर रहा है

कर्नाटका की रहने वाली मार्ग्रेट आल्वा उत्तराखंड की पहली महिला राज्यपाल रही हैं

Click Here

गुजरात, राजस्थान, गोवा की भी राज्यपाल रहीं हैं. 

14 अप्रेल, 1942 मैंगलोर, जिला- दक्षिण कनारा (कर्नाटक) में मार्ग्रेट आल्वा का जन्म एक ईसाई परिवार में हुआ था

Click Here

24 मई 1964 को मार्ग्रेट आल्वा की शादी निरंजन अल्वा से हुई थी. निरंजन स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी और भारतीय संसद की पहली जोड़ी जोकिम अल्वा और वायलेट अल्वा के पुत्र हैं

निरंजन अल्वा का अपना खुद का व्यवसाय है और मार्ग्रेट आल्वा के तीन बेटे और एक बेटी है।

उनके दो बेटों निरेत अल्वा और निखिल अल्वा ने मिलकर 1992 में मेडिटेक नामक कंपनी की स्थापना की

Click Here

1986 में आल्वा में यूनिसेफ द्वारा दक्षिण एशिया के बच्चों पर हुई प्रथम कांफ्रेंस तथा महिला विकास पर हुई सार्क देशों की मंत्री स्तर की बैठक की सभापति निर्वाचित हुईं

अप्रैल 1974 में, अल्वा को कांग्रेस के प्रतिनिधि के रूप में राज्यसभा के लिए चुना गया था.

इनके बारे में और जानने के लिए नीचे दिए Button पर Click करें 

हाल ही में कोंग्रेस की तरफ से मार्ग्रेट आल्वा का नाम भारत के नए उपराष्ट्रपति के लिए नामित हुआ है

Click Here