जहां एक ओर 'अग्निपथ' योजना को लेकर देश के कुछ राज्यों में बवाल जारी है.

वहीं दूसरी ओर इस योजना को लेकर थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे का बयान सामने आया है.

थल सेना प्रमुख जनरल ने कहा कि 'अग्निपथ' योजना के तहत आयु सीमा को 21 से बढ़ाकर 23 वर्ष करने का निर्णय लिया गया है 

ये उन युवाओं को अवसर प्रदान करेगा जो सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे थे

लेकिन पिछले दो साल से कोविड-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं कर पाये.

अग्निपथ योजना' में शामिल होने की अधिकतम उम्र सीमा बढ़ाने के केंद्र के फैसले से बड़ी संख्या में युवाओं को फायदा होगा. 

शाह ने कहा कि कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण पिछले दो साल में सेना में भर्ती की प्रक्रिया बाधित हुई है

जनरल पांडे  मुताबिक पहले अग्निवीर दिसंबर 2022 तक सेंटर्स पर पहुँच जायँगे 

Click Here